अभिनेता ने किया स्टाफ से वादा, कहा- 'इतनी ही हैसियत है मेरी, वेतन देता रहूंगा, चाहें लोन लेना पड़े'

अभिनेता ने किया स्टाफ से वादा, कहा- 'इतनी ही हैसियत है मेरी, वेतन देता रहूंगा, चाहें लोन लेना पड़े'

अभिनेता ने किया स्टाफ से वादा, कहा- 'इतनी ही हैसियत है मेरी, वेतन देता रहूंगा, चाहें लोन लेना पड़े'

देश में कोरोना वायरस का प्रकोप देखने को मिल रहा है। इस प्रकोप को कम करने के लिए पीएम नरेंद्र मोदी द्वारा 3 मई तक लॉकडाउन के आदेश दिए गए हैं। एक तरफ जहां इस लॉकडाउन से कोरोना को रोकने में मदद मिल रही है तो वहीं दूसरी ओर कई धंधे चौपट हो गए हैं। ऐसे में लोगों के सामने रोजी रोटी की समस्या खड़ी हो गई है। इस बीच एक अभिनेता ने एलान किया है कि चाहें उन्हें बैंक से लोन ही क्यों न लेना पड़े लेकिन वो अपने स्टाफ को पूरी सैलरी देंगे।

दरअसल हाल ही में अभिनेता दीपक डोबरियाल ने हिंदुस्तान टाइम्स के साथ बातचीत की। इस बातचीत में दीपक ने कहा, 'मुझे बहुत हैरानी होती है कि जब हमारे जैसे लोग इस समय परेशान हैं, तो गरीब इसका सामना कैसे कर रहे होंगे? कुल 6-7 लोग मेरे लिए काम करते हैं। सबका अपना अलग-अलग काम है। मैंने अपने स्टाफ से वादा किया है कि मैं उन्हें वेतन देता रहूंगा, चाहे इसके लिए मुझे लोन ही ना लेना पड़े। किसी भी तरीके से मैं उन लोगो का ध्यान रखूंगा।' 

दीपक डोबरियाल ने कहा, 'साल में एक फिल्म करता हूं, इतनी ही हैसियत है मेरी। मेरे पास देने के लिए बहुत सारे पैसे नहीं हैं। लेकिन यह वह तरीका जिससे मैं मदद कर सकता हूं।' दीपक के इस बयान को सोशल मीडिया यूजर्स काफी पसंद कर रहे हैं और उनकी तारीफ कर रहे हैं।

सोशल मीडिया पर होते रहे अलग अलग ट्रोल्स और बवाल को लेकर दीपक ने कहा, 'मैंने अपना फेसबुक और ट्विटर डिलीट कर दिया है। मैं सिर्फ इंस्टाग्राम पर हूं और उस पर हमारी प्रकृति के फोटोज शेयर करता हूं। मुझे लगता है कि अब सच में वो वक्त आ गया है जब हमें सिर्फ सरकार की सुननी चाहिए।' 

दीपक ने आखिरी में कहा, 'जो भी आपसी विरोध हैं, वो बाद में कर लेना, लेकिन अभी सोशल मीडिया पर गुस्सा दिखाने का वक्त नहीं बल्कि एक साथ आने का वक्त है। गौरतलब है कि इस वक्त दीपक डोबरियाल उत्तराखंड में अपने परिवार से दूर फंसे हुए हैं। वो नौ मार्च को एक शूट के लिए उत्तराखंड आए थे लेकिन वापस नहीं जा पाए...